Artificial Intelligence Kya Hai – Complete Guide 2021

Artificial Intelligence के बारे में तो आपने जरूर सुना होगा और आजकल तो हम सभी Smartphones में Google Map और Google Assistant जैसे Softwares के रूप में इसका इस्तेमाल भी कर रहे हैं।

इस पूरे ब्रह्मांड में मनुष्य ही एक ऐसा जीव है जिसे ईश्वर ने दिमाग देने के साथ उसको सही तरीके से उपयोग करने की कुशलता भी प्रदान की है। मनुष्य अपनी बुद्धि और कुशलता से आज कहां से कहां पहुंच गया है।

अपने इस बुद्धि के बल पर इंसानों ने Computer, Internet और Smartphones जैसे और भी कई सारे आविष्कार किए हैं जिसकी वजह से हम मनुष्यों की जिन्दगी को एक नई दिशा मिली है।

Technology के क्षेत्र में इंसान ने इतना विकास कर लिया है कि अब उसी की तरह सोचने समझने और अपने दिमाग का इस्तेमाल करने वाला एक चलता फिरता मशीन तैयार करने के बारे में सोच रहा है जो बिल्कुल इंसानों की तरह ही काम करने की क्षमता रख सकता है।

उस Advance Technology से बनने वाली मशीन को ही Artificial Intelligence कहा जाता है।

इसके बारे में लोगों को ज्यादा कुछ नहीं पता। इसीलिए आज मैं आपके लिए इस Post में AI यानी Artificial Intelligence से जुड़ी खास जानकारी लेकर आया हूँ,

जिसमें आपको AI (Artificial Intelligence Kya Hai) क्या है इसका इस्तेमाल कहां किया जाता हैं और इसके क्या फायदे एवम नुकसान क्या हैं इन सभी के बारे में बताएंगे।

तो सबसे पहले हम जानेंगे कि Artificial Intelligence (Artificial Intelligence Kya Hai) क्या होता हैं?

Artificial Intelligence Kya Hai

Artificial Intelligence Kya Hai - Complete Guide 2021

Artificial Intelligence जिसे हिन्दी में कृत्रिम बुद्धिमता कहा जाता है यहां कृत्रिम का मतलब है कि किसी व्यक्ति के द्वारा बनाया हुआ और बुद्धिमता का मतलब है Intelligence यानी सोचने की शक्ति।

AI (Artificial Intelligence) कंप्यूटर विज्ञान की एक शाखा है जो ऐसी Machines को विकसित कर रही है जो इन्सान की तरह सोच सके और कार्य कर सके।

जब हम किसी Computer को इस तरह तैयार करते हैं कि वह मनुष्य की अक्लमंदी की तरह कार्य कर सके तो उसे Artificial Intelligence कहते हैं अर्थात जब हम किसी मशीन में इस तरह के Program set करते हैं कि वह एक मनुष्य की भाँति कार्य कर सके उसे Artificial Intelligence कहा जाता है।

ये जो Intelligence की ताकत होती है ये हम मनुष्य के अंदर अपने आप ही बढ़ती है कुछ देखकर, कुछ सुन कर, कुछ छूकर इससे हम ये सोच सकते हैं कि उस चीज के साथ कैसे व्यवहार करना चाहिए।

ठीक उसी तरह से कंप्यूटर यंत्र के अंदर भी एक तरह का Intelligence Develop कराया जाता है जिसके जरिए Computer System या Robotics System तैयार किया जाता है जो उन्हीं तर्कों के आधार पर चलता है जिसके आधार पर मानव मस्तिष्क काम करता है।

Computer science के कुछ वैज्ञानिकों ने AI की परिकल्पना दुनिया के सामने रखी थी जिसमें उन्होंने बताया था कि AI Concept के द्वारा एक ऐसा Computer Controlld Machine या एक ऐसा Software बनाने की योजना बनाई जा रही है जो वैसा ही सोच सके जैसे इंसान का दिमाग सोचता है।

मानव सोचने, Analyze करने और याद रखने का काम भी अपने दिमाग की जगह पर यंत्र कंप्यूटर से कराना चाहता है इसीलिए Artificial Intelligence की प्रगति पर जोर दिया जा रहा है।

Computer science में AI को Machine learning के नाम से भी जाना जाता है।

Machine learning AI का एक हिस्सा इस सिस्टम को अपने अनुभव से अपने आप ही सीखने और खुद को Improve करने की क्षमता देता है और इसमें प्राथमिक महत्व Computers को खुद से इंसान के बिना ही सीखने के लिए अनुमति देना होता है।

Machine learning Computer Programs की Development पर Focus करता है जो Data को Access कर सके और उसमें अपने आप सीख सकें।

जिस तरह मनुष्य अपने अनुभव से अपनी क्षमता को बेहतर करते हैं ठीक उसी तरह AI के Programs भी हैं जिसके जरिए Machines भी सीखने का काम कर सकती हैं।

आज के समय में AI और Machine learning के लिए सबसे ज्यादा Python programming language का उपयोग किया जा रहा है। चलिए अब हम जानते है कि AI की शुरुआत किसने की?

AI [Artificial Intelligence] की शुरुआत किसने की थी?

जब इंसान Computer System की असली ताकत की खोज कर रहा था तब मनुष्य के दिमाग में उन्हें यह सोचने पर मजबूर किया कि क्या एक मशीन भी इंसानों की तरह सोच सकती है।

इसी सवाल से Artificial Intelligence के विकास की शुरुआत हुई जिसके पीछे केवल एक ही उद्देश्य था कि एक ऐसी बुद्धिमान मशीन की संरचना की जाए जो कि इंसानों की तरह ही बुद्धिमान हो और उनकी तरह ही सोचने समझने और सीखने की क्षमता रखती हो।

1995 में सबसे पहले John Mccarthy ने Artificial Intelligence शब्द का इस्तेमाल किया था वो एक American computer scientist थे जिन्होंने सबसे पहले इस Technology के बारे में सन् 1956 में एक Confress में बताया था इसलिए उन्हें Father of artificial intelligence भी कहा जाता है।

Artificial Intelligence कोई नया विषय नहीं है। दशकों से दुनिया भर में इस पर चर्चा होती रही हैं और इसके ऊपर बहुत सी फिल्में भी बनी हैं जैसे कि:

  • Metrix
  • Robot
  • Terminator

Blade Runner जैसी फिल्मों का आधार Artificial Intelligence का ही है जहां Robot का स्वरूप दिखाया गया कि कैसे वो इंसानों की तरह सोचता है और काम करता है और अब हम जानेंगे कि Artificial Intelligence का उपयोग कहां किया जाता है।

Artificial Intelligence का उपयोग कहां-कहाँ किया जा रहा है?

Artificial Intelligence की लोकप्रियता बड़े ही जोरो शोरों से बढ़ती चली जा रही है और आज ये एक ऐसा विषय बन गया है जिसकी Technology और Business के क्षेत्र में काफी चर्चा हो रही है।

कई विशेषज्ञों और Industry Analyst का मानना है कि यह Machine Learning हमारा भविष्य है लेकिन अगर हम अपने चारों तरफ देखें तो हम पाएंगे कि ये हमारा भविष्य नहीं बल्कि वर्तमान है।

Technology के विकास के साथ आज हम किसी न किसी तरीके से AI से जुड़े हुए है और इसका इस्तेमाल भी कर रहे हैं।

हाल ही में कई कंपनियों ने मशीन लर्निंग पर काफी निवेश किया है जिसके कारण कई AI Products और Apps हमारे लिए उपलब्ध हुए हैं।

तो चलिए आज हम आपको अभी के समय में उपलब्ध होने वाले कुछ AI के उदहारण देते हैं।

1. Artificial Intelligence in Apple Products.

आपने Apple Phone तो देखा ही होगा। इसकी सबसे लोकप्रिय Personal Assistant Siri के बारे में भी जरूर सुना होगा, Siri AI का सबसे बेहतरीन उदाहरण है।

इससे आप वो सारी चीजें करवा सकते हैं जो आप पहले internet में टाइप करके किया करते थे जैसे

  • Message Send करना
  • Internet से इन्फर्मेशन ढूंढना
  • कोई Application Open करना
  • Timer Set करना
  • Alarm लगाना इत्यादि।

जैसे सभी काम आप मोबाइल को बिना हाथ लगाए Siri से Hey Siri कहकर करवा सकते हैं।

Siri आपकी भाषा और सवालो को समझने के लिए Machine learning technology का प्रयोग करती है। हालांकि यह सिर्फ iphone और ipad में ही उपलब्ध है।

इसी तरह Alexa Device Windows का Cortana और Android Phone की Personal assistant google assistant है जो कि Siri की तरह काम करने के लिए प्रयोग किए जाते हैं।

2. Artificial Intelligence in Google Products.

Google अपने कई क्षेत्रों में AI का इस्तेमाल करता है लेकिन Google Map में AI Technology का अच्छा इस्तेमाल हुआ है।

Google Map हमारी Location को Track करती है और हमें सही रास्ता बताने के लिए AI Enabled Mapping का इस्तेमाल करती है और हमें सही रास्ता बताने में मदद करती है।

3. Artificial Intelligence in Amazon Products.

लोकप्रिय E-commerce website amazon ने भी एक ऐसा Revolutionary Product Launch किया है जिसका नाम है Echo.

Echo आपके लिए बहुत से काम कर सकता है जैसे कि:

  • ये आपके सवालों के जवाब दे सकता है।
  • आपके लिए Audio Book पढ़ सकता है।
  • आपका Traffic का हाल और Weather Report बता सकता है।
  • किसी भी Support का School और Schedule भी बना सकते हैं।

4. Artificial Intelligence in AutoMobiles.

AI का इस्तेमाल सिर्फ Smartphones में नहीं बल्कि Automobiles के क्षेत्र में भी इसका बहुत ज्यादा उपयोग किया जा रहा है।

अगर आप कार पसंद करते हैं तो आपको Tesla car की जानकारी जरूर होगी। यह कार अब तक उपलब्ध सबसे बेहतरीन Automobiles में से की है।

Tesla Car से जुड़ने के बाद इसमें Self Driving जैसे feature उपलब्ध है। ऐसे ही न जाने कितनी Self driving Car और बन रही है जो आने वाले वक्त में और भी Smart हो जाएगी।

5. Artificial Intelligence in Manufacturing Industry.

AI का इस्तेमाल Manufacturing Industry में भी खूब जोरों से हो रहा है। पहले जिस काम को करने के लिए सैकड़ों लोग लगते थे वहीं आज मशीन की मदद से वही काम बहुत जल्दी और बेहतर किया जा रहा है।

6. Artificial Intelligence in Games Industry.

हमें Video Games में भी AI की झलक मिलती है। जैसे कई सारी Games में आपको Computer से खेलना होता है जैसे Chess और Ludo.

इन सबके अलावा AI का इस्तेमाल Speech Recognition, Computer Vision, Robotics, Finance, Weather Forecasting, Health Industry और Aviation में भी होता है।

आइए दोस्तों अब हम जानेंगे की Artificial Intelligence के क्या फायदे हैं?

Artificial Intelligence Ke Kya Fayde Hai.

1. AI Error को कम करने में हमारी मदद करता है और अधिक Accuracy के साथ सटीकता करने की संभावना बढ़ जाती है।

2. AI का उपयोग करने से तेजी से निर्णय लेने और जल्दी से कार्य करने में सहायता मिलती है।

3. मनुष्यों के विपरीत Machines को लगातार आराम और Refreshment की आवश्यकता नहीं होती। वो लंबे समय तक काम करने के काबिल होते हैं और न तो उबते हैं, न विचलित होते हैं और न ही थकते।

4. AI की मदद से संचार, रक्षा, स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधन और कृषि आदि क्षेत्रों में बड़ा बदलाव आ सकता है।

So friends ये बात तो हुई Artificial Intelligence के फायदों के बारे में चलिए अब जानते है कि Artificial Intelligence के क्या नुकसान हैं?

Artificial Intelligence Ke Nuksan Kya Hai?

1. AI के लाभ अभी बहुत स्पष्ट नहीं हैं लेकिन इसके खतरों को लेकर कहा जा सकता है कि AI के आने से सबसे बड़ा नुकसान मनुष्य का ही होगा।

2. AI ही मनुष्यों के स्थान पर काम करेंगी और मशीनें स्वयं ही निर्णय लेने लगेंगी और उन पर नियंत्रण नहीं किया गया तो इससे मनुष्य के लिए खतरा भी उत्पन्न हो सकता है।

3. विशेषज्ञों का कहना है कि सोचने समझने वाले Robot अगर किसी कारण या परिस्थिति में मनुष्य को अपना दुश्मन मानने लगें तो मानवता के लिए ख़तरा पैदा हो सकता है।

4. Artificial Intelligence के निर्माण के लिए भारी लागत की आवश्यकता होती है क्योंकि ये बहुत ही Complex Machine होती हैं उनकी मरम्मत और रख रखाव के लिए भारी लागत की आवश्यकता होगी।

5. इसमें कोई शक नहीं है कि AI कई सारी नौकरियों को मनुष्यों से छीन रही है जिससे भविष्य में बेरोजगारी की समस्या और भी बढ़ने वाली है।

इन्हें भी पढ़ें :-

Last Thought on Artificial Intelligence Kya Hai

Google के CEO Sundar Pichai का कहना है कि मानवता के फायदे के लिए हमने आग और बिजली का इस्तेमाल तो करना सीख लिया है पर इसके बुरे पहलुओं से उबरना जरूरी है।

इसी प्रकार Artificial Intelligence भी ऐसी तकनीक है और इसका इस्तेमाल भी हम बहुत से क्षेत्रों में अपने फायदे के लिए कर रहे हैं लेकिन सच यह भी है कि अगर इसके जोखिम से बचने का तरीका नहीं ढूंढा तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं क्योंकि तमाम लाभों के बावजूद Artificial Intelligence के अपने खतरे हैं।

Artificial Intelligence आने से हमें जो सुविधाएं मिल रही है या आने वाले समय में मनुष्य पर कैसा असर होने वाला है इसके बारे में आप क्या सोचते हैं अपनी राय मुझे Comment box में जरूर बताएं।

मुझे आशा है कि आपको इस पोस्ट से Artificial Intelligence Kya Hai, इसका उपयोग कहां हो रहा है, इसके क्या फायदे और क्या नुकसान है ये सारी जानकारी मिल गई होगी।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने सोशल मीडिया हैंडल्स पर भी जरूर शेयर करें ताकि आपके friends भी इस जानकारी से वंचित न रह पाएं।

Sharing is Caring [ Don’t be Selfish 🙂

Sandeep
He is the founder and editor of DeepBlogging Blog Tips Like SEO, Link Building, Traffic Increase Tips in Hindi. Learn more about him here and connect with him on Twitter, Facebook Page.