Blog ki Traffic बढ़ाने के 12 Important SEO Ranking Factors

Blog ki Traffic Or Site की Ranking Improve करने के लिए 200+ SEO Ranking Factors हैं,

जो Search Engine को यह पता करने में मदद करते हैं,

कि Search Results में कौन सी Sites Show होनी चाहिए और उन्हें Rank कैसे करना चाहिए।

यदि आप चाहते हैं कि आपकी Site SERPs (Search Engine Results Page ) पर Top पर Rank करे,

तो आपको इन Factors को पूरा करने के लिए अपनी Online Presence को optimize करना होगा।

अच्छी बात तो यह है कि 200+ Ranking के सभी Factors Equal नहीं हैं।

कुछ Ranking Factor दूसरों की Comparison में Most Important हैं।

जैसा कि आप अपनी SEO Strategy को Plan करते हैं,

इसलिए आज मैं आपके लिए 12 ऐसे Ranking Factors लेकर आया हूँ,

जो 100% आपके Blog ki traffic को increase करने में आपकी Help करेंगें।

इससे पहले कि Top 12 Ranking Factors या Blog ki Traffic Increase,

करने से Related Factors को जाने आपको एक बार नीचे दिए Factors को भी Note करना चाहिए।

Note↓

Search Engine और Google के Algorithms में लगातार Changes आते रहते है।

इनमें से कुछ Factors हमारे लिए अच्छे होते है,

और कुछ हमारे Blog की Ranking को Decrease कर देते है।

Bloggers को New Ranking Factors से Update रहना,

और Time to Time अपने Blog को एक बढ़िया SEO Tool से Audit करना चाहिए।

ताकि आप Ensure हो पाएं कि आप SEO Ranking Factors को Up To date Follow कर रहे है या नहीं।


Question for you:-

आपको तो पता ही है कि Search Engine और Google के Algorithms लगातार Change हो रहे है। 

तो इस Case में क्या आप SEO के नजरिये से अपनी Site को Up to Date रख पा रहे हैं।  

Comment में अपना Opinion जरूर Share करें। 


Blog ki Traffic के लिए Top 12 SEO Ranking Factors 

Blog ki traffic

चलिए अब बात करते है उन 12 SEO Ranking Factors कि जो हमारे Blog ki traffic और online presence को Optimize करेंगें।


Site Security 

2014 में, Google ने Site Security पर Ranking Factors के रूप में चर्चा की थी।

लेकिन अब यह इस List के Most Important Google Ranking Factors में से एक है।

Site Security से मतलब Site पर HTTPS Encryption होने को Indicate करता है।

HTTPS Encryption वाली Sites में SSL Certificate होते हैं,

जो एक Website और उसके Users के बीच एक secure connection बनाकर रखते हैं।

यह Security की एक Extra Layer जोड़ता है जो Users और Site के बीच,

आदान-प्रदान [Exchanged] की गई जानकारी को Secure रखता है।

तो इस Case में Search Engine चाहता है कि उसके Users एक Trustworthy Site को Browse करे।

और इस वजह से HTTPS Encryption Users को दिखाता है कि यह Site Secure है।

यदि आपकी Website का URL बजाय HTTPS के, HTTP से शुरू होता है।

तो आपकी Site Secure नहीं है।

जिससे आपके Blog ki Traffic increase होने के बजाय Decrease होती चली जाएगी।

और आपका Bounce Rate भी धड्ड्ले से Increase हो जाएगा।

इसलिए इन सभी Problem को ना Face करने के लिए Site को SSL से Secure करें।


Mobile-Friendliness

Mobile-Friendliness से मेरे कहने का मतलब है,

कि किसी Website को जब कोई User इसे Mobile Device पर देखता है।

Mobile-Friendly Sites अपने Visitors को Good User Experience Provide करती है।

Responsive Design का Use करके ये Sites Users को Good User Experience Provide करती हैं,

जो Content को Adjust करता है ताकि यह हर Screen Size पर अच्छा लगे।

क्योंकि Desktop से अधिक Mobile Devices पर Searches होती है,

(52.2% Internet पर Traffic Mobile Devices से आता है और यह संख्या लगातार बढ़ रही है),

Mobile-Friendly Search Engine और Users दोनों के लिए Most Important है।

क्योंकि Search Engine भी उन Web-pages को Google में Top पर Rank करता है,

जो Mobile-Friendly होते है।

So Mobile-Friendly Web-pages के लिए आप Amp Themes का भी Use कर सकते है।

यह देखने के लिए कि क्या आपकी Site Responsive है या नहीं,

अपनी Site को Google के Mobile-Friendly Tool में Submit करें।

Blog ki traffic kaise badhaye

यह आपको Site के Mobile Version के साथ-साथ Site से Related Issue की Report भी Provide करेगा।


Page Load Speed 

User Experience से Related एक और SEO Ranking Factor Page Load Speed है।

Slow Loading Sites Bad User Experience Provide करती हैं।

Search Engine जानते हैं कि लोग जितनी जल्दी हो सके जवाब ढूंढना चाहते हैं,

इसलिए Search Engines भी उन्हीं Sites को Search Results में show करना पसंद करते हैं,

जो User के लिए Fast Load हों।

यह Mobile Sites के लिए भी सही है, क्योंकि Google ने घोषणा [Announced] की थी,

कि Speed Update Mobile Searches के लिए Loading Speed को एक Ranking Factor बना देगा।

Sure होने के लिए कि आपकी Site Fast से Load होती है या नहीं,

Sites Speed Checker का उपयोग करें।

Otherwise आप Ubersuggest Analysis Tool को आज़मा सकते है,

जो हमारी Full Site को Audit या Google के Pagespeed Insight Tool का एक हिस्सा है।

blog ki traffic kaise badhaye

यदि आपकी Site Slow है, तो अपनी Website की Speed Fast करने के लिए,

Caching, File Compression, Redirect की संख्या को कम करने,

और Load Time को Fast करने के लिए Other Steps उठाकर अपनी Site की Speed को Fast करें।


Crawlability 

अगर Search Engine को किसी Site के बारे में पता नहीं चलेगा तो वह उस Site को Rank नहीं कर पाएगा।

इसलिए Site Crawlability इतना Important SEO Ranking Factors है।

Crawlability Search Engine को किसी भी Website को Scan करने

और उसके Content का Review करने की Permission Allow करता है,

इसलिए वे यह निश्चित कर सकते हैं कि Page/Post क्या है और इसे कैसे Rank करना चाहिए।

So यदि आप चाहते हैं कि Google आपकी Site को Rank करे,

तो Search Engine को आपकी Site को सही तरीके से Crawl करने की Permission देनी होगी।

ताकि आप Ranking के साथ-साथ blog ki traffic भी Increase कर पाएं।

Search में अपनी Site की Crawling के लिए आप नीचे दिए गए Steps को follow कर सकते है:-

1. Top Search Engine में  Sitemap Submit करें जैसे कि Bing, Yahoo, Yandex, etc…

2. Google Search Console में Check करें,

कि Search Engine ने आपके Blog के कितने Pages को Crawl किया है।

3. Properly Robots.txt का Use यह बताने के लिए करें कि,

कौन से Search Engine में आपके किन-किन Pages को Crawl होना चाहिए और किन्हें नहीं।


User Engagement 

Search Engine Users को यह Decide करने में Help करते हैं,

कि वे Search Ranking में किन Pages को Promote करें।

Search Engine Analysis करते हैं कि Users हमारे द्वारा Provide करवाए गए,

Results में से किन Pages को ज्यादा Priority देते है और कौन से Pages उनके लिए Helpful नहीं है।

Google यह काम Rankbrain Artificial Intelligence Tool के माध्यम से ऐसा करता है।

User Engagement से जुड़े Factors: 

1. CTR [ Click-Through Rate]

SERPs [Search Engine Results] में Show होने वाले,

Results पर Click करने वाले लोगों की Percentage.

2. Time on Site

किसी User का किसी भी Site के किसी Particular Page पर Spend किया गया Time.

अगर Time on site सही होता है तो इससे आपका Bounce Rate भी Decrease होगा।

जिससे आपके Blog की Ranking+Blog ki Traffic में इजाफा होगा।

3. Bounce Rate

उन Users की Percentage जो जल्दी से किसी Site Page पर आते है,

और जल्द ही उसे छोड़ जाते है। यानी कि या तो उन्हें Content पसंद ना आया हो,

Formatting सही ना हो या फिर हो सकता है उस Users से Related उस Page में Info Available ना हो।


ये सभी Factors Search Engine को Decide करने के लिए Help करते है,

कि आपका Content Users के लिए कितना Helpful है। 

So अपने Content और Snippets को Optimize करें,

ताकि आप अपनी Site पर User Engagement Boost कर पाएं।  


User Engagement को Boost करने के लिए आप आगे दिए गए Steps को Follow कर सकते है:- 

1. High-Quality Website Design और Graphics का use करें।

2. एक siloed site architecture का Use करें जो Natural और Follow करने में आसान हो।

3. Users को आसानी से आपकी Site के Through Navigate करने में,

मदद करने के लिए Internal Links का Use करें।

4. अपने Search Results के Snippets के लिए Catchy Title और Clickable Meta Tag SEO का Use करें।

5. अपने Content के Featured Snippets को Optimize करें,

ताकि वह Search Engine में Informative नजर आए।


High-Quality Content लिखें 

अपनी Site पर User Engagement को बढ़ाने और Search Engine में High Ranking पाने के लिए,

एक अन्य तरीका है अपनी Site पर Regularly High-Quality Content Publish करना।

Content Most Important SEO Ranking Factors में से एक है।

Search Engine अपने Users को Best Results Provide करना चाहता हैं,

So वे उन Sites को Top में Ranking देते हैं जिनमें अच्छी तरह से Research,

Depth और Well Formatted Content हो।

Fresh Content Search Crawlers को Attract करता है,

जिससे आपके Users भी Fresh Content को Share करने के लिए Motivate होते है।

इसके साथ-साथ Fresh Content को search Engine ज्यादा Visible करता है।

So Fresh Content आपकी Marketing Strategies के लिए काफी ज्यादा Helpful रहता है।

क्योंकि Fresh + High-Quality Content से आपके Blog पर ज्यादातर Visitors Visit करते है।

जिससे आपके Blog ki traffic Increase होगी।


Website का Traffic बढ़ाने के 17+ Best तरीके।  


Target Keywords

एक बात हमेशा याद रखें कि कभी भी आँखे बंद करके Content ना Create करते जाएं।

Strategically तरीके से Keyword Use करके Content Create करें।

ताकि जिस भी Focus Keyword को आप Use कर रहे है,

वह आपकी Post में बताए गए Topics को Cover करे।

keyword Research उन Famous Keyword की पहचान करने की process है,

जो आपकी Site पर Traffic ला सकते हैं।

Keyword Research से जुड़े कुछ Factors: 

1. Long-Tail Keywords 

जैसे-जैसे Voice Search में इजाफा हो रहा है।

Mostly Internet Users अपनी queries से related long Phrases & Questions का Use करते है।

So अपने Article में Short Keywords के साथ-साथ Long-Tail Keywords भी Add करें।

2. Keyword Search Intent को समझें 

Search Intent एक ऐसा Reason है जिसके कारण कोई User Search करता है।

[i.e., क्योंकि उन्हें कुछ सीखना, खरीदना या वे कुछ Navigate करना चाहते है। ]

Google उन Articles को Better Ranking Provide करता है,

जिनमें Keywords से Related Content हो।

So Be Sure कि अलग-अलग Type के  Keywords Content के लिए कैसे काम करते है।

3. Competitive Rang के अंदर Target Keyword 

कुछ Keywords बहुत ज्यादा Competitive हैं और उनके लिए Rank करना मुश्किल होगा।

So उन Keywords पर ध्यान दें जो आपकी Site की Competitive Range के अंदर हैं।

Keywords Research Tools की Help से आप उन Keywords को Find करें,

जो  आसानी से आपके Competitor को Beat करने के लिए Work करें।

तब जाकर आप एक Search Engine में Rank और Blog ki Traffic Boost करने वाला Content लिख पाएंगें।


Optimized Content

अपनी Site के Content की तरफ Search Engine को Attract करने के लिए,

आपको On-Page SEO पर भी विशेष रूप से ध्यान देना होगा।

On-Page SEO एक ऐसी Process है जिसकी मदद से,

आप अपनी Site के किसी भी Individual Page को Target Keyword के लिए Optimize कर सकते है।

Content को Optimize करने से आप Search Engine को बताते है,

कि आपका Content किस Keyword से Related है और इसे कहाँ Ranking देनी चाहिए।

जब भी आप Content / Article लिखें तो Per Page के लिए एक Unique Keyword को Assign करें।

और कभी भी Multiple Pages के लिए Same Keywords को ना चुनें।

तभी आपका Article On-page SEO के लिहाज से Optimize हो पाएगा।

Page/Posts को Optimize करने के लिए On-Page SEO Checklist का Use करें।

इसके साथ ही आप On-Page SEO Checker Tool का Use कर सकते है।


Structure Data

Structure Data Search Engine को बताने का एक और तरीका है,

कि कोई भी Web Page किस Topic के बारे में है,

ताकि Search Engine उसके अनुसार उसे Rank कर सकें Structure Data के Through.

Structure Data और Schema Markup की Help से,

Web-page के Back-End में Micro_data जोड़ा जाता है।

जिसकी Help से Search Engine Content Category को Identify कर पाता है।

जैसे कि एक Blog Site को उसकी Posts, Author, Comments, Regularity इत्यादि Factors से पहचाना जाता है,

कि यह एक Blog Site है जहाँ पर Blogs Publish किए जाते है।

Structure Data एक Powerful SEO Ranking Factor है,

जो Search Engine को Clearly बताता है कि आपका Page Or Post किसके बारे में है।

यह इसलिए भी Important है क्योंकि Search Results में Show होने वाले

Snippets को भी Structure Data Develop करने में हमारी Help करता है।

जिससे हमारी Site का Click-Through Rate,

Or Blog ki Traffic + Ranking Improve होने के Chances बढ़ जाते है।


Consistent Blog Listing

Search Engine भी उन Blog और Brand Sites को Rank करता है,

जो ज्यादा Powerful, Trustworthy, Authoritative और Credible हों।

कोई Famous Brand Or Blog जो Online है।

Search Engine उसकी Visibility Users के सामने ज्यादा करता है।

यही कारण है कि Consistently Blog Listing Or Business Listing,

Most Important SEO Ranking Factor में से एक है।

Business Listing मुख्य रूप से एक Local SEO Ranking Factor है।

इसलिए अगर आपका Business या कोई Shop है,

तो आपको Local SEO पर जरूर ध्यान देना चाहिए।

इसके लिए आप कुछ Tips को Follow कर सकते है:→

1. Google My Business Page Crate करें।

2. अपनी Industry से Related Directories के लिए Profile Set Up करें।

3. आपकी Profile को NAP (Name, Address & Phone Number) Rule को Follow करना चाहिए।


Backlinks 

Backlinks एक Another Signal है जो Search Engine को बताती है,

कि आपकी Site कितनी Trustworthy और Authoritative है।

आपकी Site से जुड़ने वाले Quality Links एक Another Off-Page SEO Factor है।

जो आपकी Search Ranking और Blog ki Traffic पर Important Impact डालती है।

Backlinks को अक्सर दूसरा सबसे बड़ा SEO Ranking Factor माना जाता है।

So अगर आप अपनी Site को Rank करना चाहते है,

तो आपको High-Quality Backlink Generate करनी होगी,

Through Guest Posting, Link Acquisition, Digital PR,

और बाकी Link Building Strategies की Help से आप Backlinks Create कर सकते है।


READ MORE 

1. 10 Best High DA Profile Creation Sites List.

2. High-Quality Backlink कैसे बनाए?


Domain Age 

अंतिम Ranking factor ऐसा है जिसका आप कुछ नहीं सकते हैं,

लेकिन गौर करने वाला SEO Ranking Factor है।

Domain Age यानी कि आपकी Site कितनी पुरानी है।

अक्सर इसे Ranking Factor माना जाता है।

लेकिन Google ने इसे अपने Top SEO Ranking Factors में से एक Clearly नहीं बताया।

Research और बड़े Bloggers बताते है कि Old Domain [Sites] ज्यादा बेहतर Rank करते है।

New Domain/Sites के मुकाबले।

So अगर आप Brand New Site Launch करते है, तो यह बात दिमाग में रखें,

कि आपको Google में अच्छी तरह से ranking हासिल करने में अभी Time लगेगा।

Time और Best SEO Tactics के Implementation से,

आपके Blog ki Traffic + Ranking Improve होने के chances काफी ज्यादा बढ़ जाते है।

लेकिन यह एक ही रात में होने वाली Process नहीं है इसके लिए आपको लगातार काम करते रहना होगा।


Read Also

1. On-Page SEO से Article Optimize कैसे करें?

2. 20+ Best Free SEO Tools in Hindi


Conclusion 

क्या इन सभी SEO Ranking Factors के Point of view से आपकी Site Optimized है।

जब आप जानते है कि ये सभी SEO Ranking Factors बहुत ज्यादा Important है।

तो अब समय आ गया है कि आप अपनी Site को Optimize करें।

चाहे आप New Article लिख रहे है या Older Content को Optimize कर रहे है।

इस List को Analyze करें और पता लगाएं कि,

आपने SEO से Related कौन-कौन से Points को Cover कर रखा है।

So Guys, यही था आज का Article “Blog ki Traffic बढ़ाने के 12 Important SEO Ranking Factors

उम्मीद करता हूँ आपके लिए यह जानकारी Helpful रही होगी।

अगर हां, तो इस  Article को अपने Friends के साथ भी Social Media पर Share जरूर करें।

Thank You for Reading

Sandeep
He is the founder and editor of DeepBlogging Blog Tips Like SEO, Link Building, Traffic Increase Tips in Hindi. Learn more about him here and connect with him on Twitter, Facebook Page.