Skip to content

SSC Kya Hai Aur SSC Exam Clear Kaise Kare

इस पोस्ट में हम बात करेंगे कि SSC Kya Hai और SSC Full Form Kya Hai…इसके अलावा यह भी जानेंगे कि SSC में कौन-कौन से सेक्टर आते है और साथ ही साथ आप अच्छे तरीके से SSC की तैयारी कैसे कर सकते है।

तो चलिए सबसे पहले जानते है कि SSC Kya Hai और SSC की Full Form क्या है ?

SSC क्या है – SSC Kya Hai?

SSC मतलब Staff Selection Commission जिसे हिंदी में कर्मचारी चयन आयोग कहते हैं।

इसके नाम से पता चलता है कि यह एक आयोग है जो कि कर्मचारियों की भर्ती करता है। इंडिया में सबसे ज्यादा नौकरी देने वाला संगठन SSC है और ये Adults में काफी Famous है।

SSC Full Form in English

  • Staff Selection Commission

SSC Full Form in Hindi

  • कर्मचारी चयन आयोग।

SSC का इतिहास क्या है – SSC History in Hindi.

SSC Kya Hai

Post में आगे बढ़ने से पहले SSC का छोटा सा इतिहास जान लेते हैं। 4 November 1975 को भारत सरकार ने एक आयोग का गठन किया।

इसे अधीनस्थ सेवा आयोग मतलब सब ऑर्डिनेट सर्विस कमीशन (Subordinate Services Commission) कहा जाता था।

26 September 1975 को अधीनस्थ सेवा आयोग का नाम बदलकर कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) कर दिया गया, जिसे आम तौर पर SSC के नाम से भी जाना जाता है।

दोस्तो SSC साल में आठ तरह के Exam करवाती हैं। आइए सभी आठ को Short में जान लेते हैं फिर Detail में समझेंगे।

SSC में कितनी तरह के Exams होते है ?

Friends SSC साल में कुल आठ तरह के Exams करवाती है जो कि निम्नलिखित हैं:-

  1. MTS – Multi Tasking Staff
  2. CHSL – Combined Higher Secondary Level
  3. CGL – Combined Graduate Level
  4. Stenographer
  5. SSC GD Constable
  6. CPO – Central Police Organization
  7. JE – Junior Engineer
  8. JHT – Junior Hindi Translator

चलिए अब इन Exams के बारे में विस्तार से जानते हैं:-

दोस्तो SSC द्वारा अलग-अलग Department में खाली पदों को भरने का काम करता है।

ये आप पर डिपेंड करता है कि आपको किस चीज की जॉब चाहिए और आप उस पोस्ट के लिए तैयारी कैसे करते हैं।

आइए पहले जानते हैं SSC Exam Qualify करने के बाद कौन कौन सी पोस्ट मिलती है।

Read More:

SSC Exam Qualify करने के बाद कौन कौन सी पोस्ट मिलती है ?

आगे कुछ पोस्ट दी गई जिन्हें आप Apply कर सकते है:-

  • असिस्टेंट ऑडिट ऑफिसर [ Assistant Audit Officer ]
  • इनकम टैक्स इंस्पेक्टर [ income tax inspector ]
  • इंस्पेक्टर एग्जामिनर [ Inspector Examiner ]
  • असिस्टेंट [ Assistant ]
  • सेंट्रल एक्साइज इंस्पेक्टर [ Central Excise Inspector ]
  • प्रिवेंटिव ऑफिसर इंस्पेक्टर [ Preventive officer inspector ]
  • असिस्टेंट सेक्सन ऑफिसर [ Assistant Section Officer ]
  • असिस्टेंट इनफोर्समेंट ऑफिसर [ Assistant Enforcement Officer ]
  • डिविजनल अकाउंटेंट [ Divisional Accountant ]
  • पोस्टल इंस्पेक्टर [ Postal Inspector ]
  • स्टैटिस्टिकल इन्वेस्टिगेटर [ Statistical investigator ]
  • ऑडिटर [ Auditor ]

अब जानते हैं SSC द्वारा आप किस किस Department में जा सकते हैं।

SSC द्वारा आप किस किस Department में जा सकते हैं?

दोस्तो Indian Government के अंतर्गत बहुत सारे Department आते हैं जैसे कि

  • इनकम टैक्स डिपार्टमेंट [ income tax department ]
  • सीबीआई [ CBI ]
  • एनआईए [ NIA ]
  • इंटेलिजेंस ब्यूरो [ intelligence bureau ]
  • मिनिस्ट्री ऑफ रेलवे [ Ministry of railway ]
  • सीएजी [ CAG ]
  • इलेक्शन कमिशन [ election commission ]
  • मिनिस्ट्री ऑफ पार्लियामेंट्री अफेयर्स [ ministry of parliamentary affairs ]
  • सेंट्रल सेक्रेटेरियट [ central secretariat ]
  • इंडियन फॉरेन सर्विस [ Indian Foreign Service ]
  • CWPRS Etc…

दोस्तो इतना तो हम लोगों ने जान लिया है कि SSC कई तरह के एग्जाम करवाता है क्योंकि एक एग्जाम से काम नहीं चलने वाला।

अलग-अलग तरह की पोस्ट के लिए अलग अलग Exams होते हैं लेकिन SSC जितने भी Exam करवाता है आइए अब उन्हें भी समझ लेते हैं।

सबसे पहले आता है MTS, MTS मतलब Multi Tasking Staff.

1. MTS – Multi Tasking Staff Kya Hai?

दोस्तो MTS Exam SSC की सबसे कम Qualification वाला एग्जाम है।

कर्मचारी चयन आयोग ने विभिन्न पदों जैसे जमादार, जूनियर, ऑपरेटर, चौकीदार माली आदि के लिए उम्मीदवारों की भर्ती के लिए MTS परीक्षा आयोजित की जाती है।

MTS परीक्षा 10th पास छात्रों के लिए भारत की सबसे अधिक भाग लेने वाली परीक्षाओं में से एक है। इसे SSC MTS गैर तकनीकी परीक्षा के रूप में भी जाना जाता है।

Multi Tasking Staff मतलब MTS Group C केंद्र सरकार के कर्मचारी हैं जिसे विशेष SSC परीक्षा के माध्यम से काम पर रखा जाता है।

MTS कर्मचारी नौकरशाही का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है, खासकर जब यह महत्वपूर्ण विभागों के दैनिक कार्यों को करने के लिए आता है।

चलिए अब जानते है CHSL मतलब Combined Higher Secondary Level.

2. CHSL – Combined Higher Secondary Level Kya Hai?

दोस्तो हर वर्ष SSC भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों विभागों में विभिन्न पदों को भरने के लिए SSC CHSL Exam का आयोजन करती है।

यह परीक्षा उन अभ्यर्थियों लिए खास तौर पर आयोजित की जाती है जो 12th पास करके सरकारी नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं।

मतलब कि इस परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों का स्तर आपके स्कूल में पढ़ाए गए पाठ्यक्रम के ऊपर नहीं होगा, तभी तो इस परीक्षा का नाम संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर रखा गया है जोकि पूरी तरह से 10+2th स्तर पर आधारित है।

SSC CHSL के अंतर्गत 4 तरह के पोस्ट आते हैं:

  • Data entry operator
  • Lower division clerk
  • Postal Assistant or Starting Assistant
  • Court Clerk.

चलिए  अब जानते है SSC CGL के बारे में, इसका फुल फॉर्म है: Combined Graduate Level.

3. CGL – Combined Graduate Level Kya Hai?

दोस्तो हर साल कर्मचारी चयन आयोग भारत सरकार में विभिन्न मंत्रालयों, विभागों एवं संगठनों में मौजूद Group B, Non Technical और Group C, Non HTET पदों को भरने के लिए उम्मीदवारों का चयन करने के लिए Combined Graduate Level Exam आयोजित करता है।

SSC CGL की परीक्षा पास करके आप आयकर, उत्पाद सोल, CBI, डाक, Narcotics, NIA इत्यादि जैसे विभिन्न केन्द्रीय सरकार के विभागों में एक इंस्पेक्टर, एग्जामनर या असिस्टेंट बन सकते हैं। इस एग्जाम में बैठने के लिए आपका Graduate होना जरूरी है।

4. Stenographer

दोस्तो SSC Stenographer का Job बहुत ही reputed होता है। इस एग्जाम की खासियत है कि आपको Soft hand आना चाहिए।

इसमें सबसे पहले होता है Written Test. उसके बाद Skill Test यानि कि Soft और Ty[ing.  इसमें Written Test की भी खासियत है कि इस एग्जाम में मैथ्स से सवाल नहीं रहते हैं।

Exam का फॉर्म भरने के लिए आपको सिर्फ 12th पास होना जरूरी है। Stenographer का काम High Court में मंत्रालयों में, सरकारी संस्थाओं में, पत्रकार के रूप में आदि कई जगहों पर अपने अधिकारियों द्वारा किए गए बातचीत का नोट्स Pad में रखना और उसको Type करके उसका Data Save रखना आदि काम होता है।

चलिए अब बात करते है SSC GD Constable के बारे में। 

5. SSC GD Constable Kya Hai?

GD मतलब General Duty: GD Constable Exam का आयोजन स्टाफ सिलेक्शन कमिशन मतलब SSC द्वारा किया जाता है।

इसके माध्यम से सीमा सुरक्षा बल मतलब BSF, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल मतलब CISF, भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल मतलब ITBP, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल मतलब CRPF आदि में जनरल ड्यूटी राइफलमैन के पदों पर भर्ती की जाती है।

SSC GD Constable का Form भरने के लिए 10th पास होना जरूरी है। इस Exam में physical test भी देना होता है।

चलिए अब बात करते है CPO यानी कि Central Police Organization के बारे में। 

6. CPO – Central Police Organization Kya Hai?

दोस्तो अगर आप पुलिस फोर्स में जाना चाहते हैं तो आप SSC द्वारा आयोजित Exam CPO को पास कर पुलिस फाॅर्स ज्वाइन कर सकते हैं।

इस एग्जाम को पास करने के बाद आप Sub Inspector or Assistant Sub Inspector बन सकते हैं। स्टूडेंट्स का किसी भी विषय के साथ ग्रेजुएशन पास होना जरूरी है।

साथ ही पुलिस उम्मीदवार जो दिल्ली पुलिस में Sub Inspector बनना चाहते हैं उनके पास LMV मतलब कार और मोटरसाइकिल चलाने का वैध ड्राइविंग लाइसेंस होना जरूरी है।

चलिए अब बात करते है JE यानी कि Junior Engineer के बारे में। 

7. JE – Junior Engineer Kya Hai ?

दोस्तो SSC द्वारा भारत सरकार के तहत आने वाले विभिन्न Engineering विभागों एवं संगठनों में विभिन्न तकनीकी खाली पदों को भरने के लिए SSC JE एग्जाम का आयोजन करती है।

SSC JE एग्जाम एक तकनीकी परीक्षा है इसलिए इस एग्जाम का फॉर्म भरने के लिए आपके पास तकनीकों का ज्ञान और समझ होना जरूरी है। इसके लिए आपको डिप्लोमा या इंजीनियरिंग किया हुआ होना चाहिए।

अगर आपके पास किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से इन तीन विषयों Civil, Electrical, Mechanical में से किसी भी एक विषय में बैचलर डिग्री या डिप्लोमा है तो आप SSC JE की परीक्षा दे सकते हैं।

चलिए अब बात करते है GHT यानी कि Junior Hindi Translator के बारे में। 

8. GHT – Junior Hindi Translator Kya Hai ?

SSC JHT एग्जाम SSC द्वारा आयोजित महत्वपूर्ण परीक्षाओं में से एक है जो प्रत्येक वर्ष भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों विभागों एवं संगठनों में अनुवादकों [ Translators ] के खाली पदों को भरने के लिए आयोजित की जाती है।

यह परीक्षा उन छात्रों के लिए खास तौर पर आयोजित की जाती है जिन्होंने हिंदी या इंग्लिश में बैचलर की डिग्री प्राप्त की हुई होती है और वह एक सरकारी अनुवादक बनना चाहते हैं।

जूनियर Translator बनने के लिए आपको हिंदी में पोस्ट ग्रेजुएशन मतलब मास्टर्स डिग्री होनी चाहिए और साथ में आपके पास इंग्लिश विषय का भी होना जरूरी है।

साथ ही जो इंग्लिश से हैं उनका पोस्ट ग्रेजुएशन अंग्रेजी विषय में हिन्दी के साथ होना चाहिए या दूसरी तरह समझें तो आपका किसी भी विषय में पोस्ट ग्रेजुएशन और साथ में आपके पास अकैडमिक में हिन्दी या अंग्रेजी में से कोई विषय होना चाहिए।

इसे भी पढ़ें:

Conclusion on SSC Kya Hai

तो दोस्तो ये थी, SSC द्वारा आयोजित सभी 8 Exams के बारे में कम्पलीट जानकारी। मुझे उम्मीद है कि अब आप जान पाएं है कि अगर आप SSC में जाना चाहते है तो आपको किस Sector के लिए कौन सी Qualification Clear करनी चाहिए।

अगर  आपको ये जानकारी पसंद आई है तो अपने SSC के इच्छुक दोस्तों के साथ भी शेयर करें ताकि उन्हें भी SSC के बारे में एक बेहतर इनफार्मेशन मिल सके।

Sharing is Caring 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published.